22000 के चालान कटने से परेशान ऑटो चालक ने की आत्महत्या!

Spread the love

ग़रीब और बेबस इंसान पर मुसीबत किसी पहाड़ से कम नहीं होती है। इस देश में ग़रीब का पुरसान-ए-हाल कोई नहीं। उत्तर प्रदेश के सरसौल के नर्वल कस्बे में रिक्शा चला कर ज़िन्दगी गुज़ार रहे एक शख्स ने उस समय मौत को गले लगा लिया। जब उसके ऑटो रिक्शे का दो बार ई-चालान कट गया। दोनों चालान की रक्म 22000 के करीब थी। इस बात से परेशान रिक्शेवाले ने फांसी लगा ली।

सुनील गुप्ता (35) कानपुर के सरसौल के नर्वल कस्बा के रहने थे। ग़रीबी में परिवार का पेट पालने के लिय ऑटो रिक्शा चला रहे थे। परिवार वालों का कहना है कि सुनील की ऑटो का कुछ माह पहले दस हज़ार रुपये का ई-चालान हुआ था,जिसे बड़ी मशक्कत के बाद भर दिया था। वहीं रविवार को दिन में फिर से दो बार चालान हो गया।

इस कारण सुनील परेशान हो गया। चालान के पैसे भरने के लिय उसके पास पैसे नहीं थे। परिवार का खर्चा भी साथ में देखना था। परिवार में पत्नी संगीता और आठ साल की गोद ली हुई बच्ची है। पहला चालान दस हजार का और दूसरा 12 हजार का ई चालान होने से वह परेशान था। सुनील ने बरामदे में कुंडे के सहारे रस्सी से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली।

कानपुर आउटर एसपी तेज स्वरूप सिंह का कहना है कि परिजनों ने जो आरोप लगाया है, उस मामले पर जांच की जा रही है। जांच के बाद ही स्पष्ट होगा कि आत्महत्या करने की असली वजह क्या है। 21 जुलाई को काटा गया चालान जूही थाना अंतर्गत साकेत नगर के पास का है। यह चालान 66/192 एमवी एक्ट के तहत किया गया है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment