Benefits of Agnipath : ‘अग्निवीरों’ को क्या-क्या मिलेंगी सुविधाएं; सेना ने जारी की भर्ती डिटेल

Spread the love

Benefits of Agnipath : अग्निपथ योजना को लेकर पूरे देश में विरोध प्रदर्शन जारी है। केंद्र सरकार ने सेना अभ्यर्थियों का भारी विरोध देखते हुए इस अग्निपथ योजना में कुछ बदलाव भी कर दिए हैं। अग्निवीरों को रक्षा मंत्रालय (Ministry of Defence) में नौकरी के लिए 10% आरक्षण मिलेगा।ये आरक्षण भूतपूर्व सैनिकों के लिए मौजूदा आरक्षण के अतिरिक्त होगा।

केंद्रीय गृहमंत्रालय (Ministry of Home Affairs) ने भी जानकारी देते हुए बताया कि अग्निवीरों के CAPFs और असम राइफल्स में होने वाली भर्तियों में 4 साल पूरा करने वाले अग्निवीरों को 10 फीसदी आरक्षण दिया जाएगा। लेकिन इसके बाद भी विरोध प्रदशर्न थमने का नाम नहीं ले रहा। प्रदर्शनकारी इस योजना को वापस लेने पर अड़े हुए हैं।

अग्निपथ योजना के विरोध में रेलवे की 700 करोड़ रूपय का संपत्ति नुकसान

केंद्र सरकार ने जैसे ही इस अग्निपथ योजना का ऐलान किया। बिहार में इसका बड़े पैमाने पर विरोध देखने को मिला। देखते ही देखते प्रदर्शन हिंसक हो गया। देश के अन्य राज्यों में भी इस योजना के विरोध में युवा सड़कों पर निकल आए। इस हिंसक विरोध में प्रदर्शनकारियों ने सबसे अधिक रेलवे की संपत्ति को नुकसान पहुंचाया। ट्रेन की बोगियों में आग लगा दी। रेलवे स्टेशनों पर तोड़फोड़ की गई।   

प्रदर्शनकारियों ने लगभग 700 करोड़ रुपये से अधिक की रेलवे संपत्ति का नुकसान किया। रेलवे अधिकारियों ने बताया कि एक सामान्य कोच के निर्माण में 80 लाख रुपये की लागत आती है, जबकि एक स्लीपर कोच और एक एसी कोच की लागत 1.25 करोड़ रुपये और 3.5 करोड़ रुपये है। सरकार को एक इंजन बनाने के लिय 20 करोड़ रुपये से अधिक खर्च करना पड़ते हैं।  इस विरोध प्रदर्शन के दौरान प्रदर्शकारियों के 10 से अधिक ट्रेनों की बोगियों को आग के हवाले कर दिया।

अग्निवीरों की गिरफ्तारियां बिहार और यूपी में जारी

अग्निपथ योजना की घोषणा के बाद  बिहार में इस योजना का सबसे अधिक विरोध देखने के मिला। बिहार में प्रदर्शन करने वाले 718 प्रदर्शनकारियों को पुलिस ने अबतक गिरफ्तार मुकदमा दर्ज करने की तैयारी है। इसके साथ ही लगातार बिहार में पुलिस हिंसा में संलिप्त लोगों को लगातार पकड़ रही हैं।

यूपी में भी प्रदर्शनों में उपद्रवी तत्वों की गिरफ्तारी लगातार जारी है। शनिवार को शाम तक 12 जिलों में दर्ज किए गए कुल 29 मुकदमों में 340 उपद्रवी गिरफ्तार किए गए हैं। इसमें शांतिभंग के आरोप में सीआरपीसी की धारा 151 के तहत 145 तथा अन्य मुकदमों में गिरफ्तार 195 लोग शामिल हैं।

Benefits of Agnipath : विरोध के बीच वायुसेना ने अग्निवीरों की भर्ती गाइडलाइन की जारी

  • अग्निवीरों को अपनी चार साल की नौकरी पूरी करनी होगी। इससे पहले वह फोर्स नहीं छोड़ सकेंगे। ऐसा करने के लिए उन्हें अधिकारी की सहमति लेनी होगी।
  • एयरफोर्स ने बताया कि अग्निवीर (Benefits of Agnipath) सभी सैन्य सम्मान और पुरस्कार के हकदार होंगे। इन्हें साल में तीस दिन की छुट्‌टी भी दी जाएगी। इसके अलावा मेडिकल लीव भी मिलेगी।
  • अग्निवीरों में 17.5 साल से 21 साल तक के युवाओं को फिजिकल फिटनेस और शैक्षिक योग्यता के आधार पर भर्ती किया जाएगा।
  • 18 साल से कम आयु वाले अभ्यर्थियों को अपने माता-पिता या अभिभावक की स्वीकृति जरूरी होगी। नियुक्ति चार साल के लिए होगी।
  • अग्निवीरों को किसी भी सेना में शामिल का अधिकार नहीं मिलेगा। इनका फोर्स या अन्य जॉब में सिलेक्शन सरकारी नियमों के तहत ही होगा।
  • अग्निवीरों को कहीं भी किसी भी प्रकार की ड्यूटी पर भेजा जा सकता है। ड्यूटी के दौरान अग्निवीरों को सभी प्रकार की मेडिकल सुविधाएं दी जाएंगी।
  • अग्निवीरों को पहले साल तीस हजार रुपए महीने वेतन मिलेगा। इसके अलावा ड्रेस और ट्रेवल अलाउंस भी दिया जाएगा।
  • ड्यूटी के दौरान अगर अग्निवीर का निधन हो जाता है तो उन्हें बीमा की रकम मिलेगी। इसके अलावा उनके बचे हुए कार्यकाल का वेतन भी मिलेगा।

वहीं यूपी में विरोध को देखते हुए सीएम योगी ने ऐलान कर कहा कि अग्निवीरों को पुलिस सेवा में प्राथमिकता दी जाएगी। उन्होंने लिखा-  आदरणीय प्रधानमंत्री जी के मंशानुरूप ‘अग्निपथ योजना’ युवाओं को राष्ट्र व समाज की सेवा हेतु तैयार करेगी, उन्हें गौरवपूर्ण भविष्य का अवसर प्रदान करेगी। @UPGovt आश्वस्त करती है कि ‘अग्निवीरों’ को सेवा के उपरांत पुलिस व पुलिस के सहयोगी बलों में समायोजित करने में प्राथमिकता दी जाएगी।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment