यूपी: दलित युवक की चारपाई के नीचे ‘बम’ लगाकर उड़ाया, दर्दनाक मौत!

Spread the love

उत्तर प्रदेश में क़ानून का राज्य और राम राज्य की बात करने वाले सीएम योगी आदित्नाथ के शासन में दलित उत्पीड़न की घटना ने सबको हिला कर रख दिया। राजधानी लखनऊ के माल इलाके में एक दलित मज़दूर की बर्बर तरीक़े से की गई हत्या ने प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं। कुछ सवर्ण जाति के लोगों ने एक दलित मज़दूर की चारपाई के नीचे बम लगा दिया। बम धमाके से युवक बुरी तरह घायल हो गया। घायल युवक को ट्रामा सेंटर ले जाया गया जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।

क्या है दलित हत्या का यह पूरा मामला?

राम राज्य और क़ानून के शासन की बात करने वाले सीएम योगी के राज्य में राजधानी लखनऊ से सटे एक ग्रामीण क्षेत्र माल इलाके के गोपरामऊ पंचायत के रानियामऊ में निवासी शिव कुमार (22) हरिद्वार में मज़दूरी कर अपने परिवार का पालन-पोषण करता था। 22 जून को वो अपने गांव लौटाकर वापस आया था।

युवक के पिता मेवालाल (38) ने बताया, “कि रात में खाना कर बेटा चारपाई पर सो गया। देर रात लगभग 1 बजे तेज़ धमाका हुआ जिससे कारण सबकी आंख खुलगई। पूरा घर धुएं से भर गया। मैं घर के बाहर चारपाई पर सोए बेटे को उठाने गया तो देखा कि वो खून से लथपथ चारपाई से दूर पड़ा था। उसको लेकर हमलोग सीएचसी अस्पताल भागे। डाक्टरो ने उसे लखनऊ के ट्रामा सेंटर ले जाने के लिए कहा। ट्रामा सेंटर में इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई।“

जानकारी के मुताबिक, युवक के पिता मेवालाल रावत ने बताया कि गांव में ज़मीन को लेकर उनके घर काम करने वाले चौकीदार अर्जुन सिंह से सवर्ण जाति के दो लोग तेज बहादुर सिंह और दीपू सिंह से विवाद चल रहा था। इस कराण उनको भी समस्या हो रही थी। इसी कारण उन लोगों ने मेरे बेटे की चारपाई के नीचे बम लगा दिया। परिजनों का आरोप है कि पुलिस आरोपियों को बचा रही है। घटना के पांच दिन बाद भी कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

वहीं इस मामले में थाना प्रभारी निरीक्षक जय बहादुर राय ने बताया, “घटना स्थल से कुछ स्टील के टुकड़े बरामद किए गए हैं। उन्हें विधि विज्ञान प्रयोगशाला भेजा गया है। मामले में पीड़ित की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच जारी है।”

इस शर्मनाक घटना के बाद से इलाके के लोग दहशत में हैं। यूपी में इस बर्बर तरीके से दलित हत्या का ये कोई पहला मामला नहीं है। योगी सरकार की क़ानून व्यवस्था और दलितों पर बढ़ते अत्याचार ने प्रदेश की क़ानून व्यवस्था पर सवाल खड़े कर दिए हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment