भारत में कोरोना के कारण किस राज्य में कितनी मौतें, देखें राज्यवार डेटा

Spread the love

31 दिसंबर, 2019 यह वो तारीख़ है जब चीन के वुहान शहर में कोरोना वायरस का पहला मामला सामने आया था। इसके बाद चीन में इस महामारी ने क्या आतंक मचाया यह दुनिया ने देखा। 30 जनवरी, 2020 यह वो तारीख है जब भारत में कोरोना का पहला केस मिला था। चीन के वुहान विश्वविद्यालय में मेडिकल की तीसरी वर्ष की छात्रा जब सेमेस्टर छुट्टियों के बाद घर केरल लौटी। तब वह कोरोना से संक्रमित पाई गई थी।

कोरोना के कारण भारत में पहली मौत 12 मार्च, 2020 को कर्नाटक के कलबुर्गी में हुई थी। मुहम्मद हुसैन सिद्दीकी (76) नाम के एक बुज़ुर्ग व्यक्ति सऊदी अरब से भारत वापिस लौटे थे। सऊदी अरब से लौटने के बाद उन्हें सांस लेने में परेशानी, खांसी और निमोनिया की शिकायत हुई थी। लगातार तबियत बिगड़ती गई और उनकी 12 मार्च, 2020 को कर्नाटक के कलबुर्गी में मौत हो गई थी। इसके बाद भारत में इस कोरोना महामारी ने ऐसी तबाही मचाई जो शायद किसी ने सोचा हो।

मौत के आंकड़ें को लेकर मतभेद

लगभग तीन साल के बाद भी कोरोना पूरी तरह से ख़त्म नहीं हुआ है। आज भी कोरोना के केस प्रतिदिन निकल रहे हैं। इस महामारी और इसके प्रकोप से बचने के लिए लगाए गए लॉकडाउन ने हमारे देश की आर्थिक स्थिति को इतनी बड़ी चोट पहुंचाई। जिससे देश अभी तक उभर नहीं सका। कोरोना के कारण हमारे देश में मौत के आंकड़ो पर काफी मतभेद है। हम आपको बताते हैं कि इस महामारी के कारण भारत के किस राज्य में कितनी मौतें हुईं।

भारत में कोरोना से मरने वालों की संख्या आधिकारिक संख्या की तुलना में छह से आठ गुना अधिक बताई गई है। एक फ़्रांसीसी शैक्षणिक संस्थान के डेमोग्राफ़र क्रिस्टोफ़ गुइलमोटो के अनुमान के मुताबिक़, जुलाई 2021 तक भारत में कोरोना से 30.2 लाख लोगों की मौत हुई। अगर यह रिपोर्ट का अनुमान सही होता है तो भारत सबसे अधिक मृत्यु वाला देश बन जाएगा, अब तक अमेरिका में कोरोना से संक्रमण से आठ लाख और ब्राज़ील में छह लाख से ज़्यादा मौतें हुई हैं और ये देश दुनिया की सूची में सबसे आगे हैं।

न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट में मौतों की संख्या पर बवाल

अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स की रिपोर्ट की एक रिपोर्ट ने देश में बवाल खड़ा कर दिया था। न्यूयॉर्क टाइम्स रिपोर्ट में दावा किया गया है कि विश्व स्वास्थ्य संगठन ने भारत में कोरोनावायरस से हुई मौतों का अनुमान लगाया है। रिपोर्ट के मुताबिक यूएन हेल्थ एजेंसी का अनुमान है कि भारत में कोरोना से मौत का आंकड़ा कम से कम 40 लाख है, जो कि सरकारी आंकड़ों से आठ गुना अधिक है।

देश में कुल 28 राज्य और 8 केंद्र शासित प्रदेश हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने भारत में कोरोना से मरने वालो का आंकड़ा 5,24,976 बताया है, जबकि कुल मामले 4.34 करोड़ है। आइये आपको बताते हैं कि कोरोना से देश के किस राज्य में कितनी मौतें हुईं।

राज्यवार कोरोना के कारण मौत का आंकड़ा

JHU CSSE COVID-19 Data के अनुसार, महाराष्ट्र (1.48 लाख +3) केरल (69,935 +11) कर्नाटक, (40,114) तमिलनाडू, (38,026) आन्ध्रप्रदेश,  (14,731) उत्तरप्रदेश, (23,532) पश्चिमबंगाल,( 21,214+2 ) दिल्ली, (26,243+1) ओड़िशा, (9,126) राजस्थान, (9,562+1) गुजरात, (10,946) छत्तीसगढ, (14,036) मध्यप्रदेश, (10,740) हरियाणा, (10,622) बिहार, (12,257+1) तेलंगाना, (4,1111) पंजाब, (17,764+1) असम, (7,988) जम्मू-कश्मीर, (4,755) उत्तराखंड , (7,695) झारखंड, (5,319) हिमाचलप्रदेश, ( 4,140) गोवा, (3,833) मिजोरम, (702) पांडिचेरी, (1,962)मणिपुर, (2,120) त्रिपुरा, (923) मेघालय, (1,594) चंडीगढ, (1,165) अरूणाचलप्रदेश, (296) सिक्किम,(453)नागालैंड, (761) लद्दाख, (228) दादर और नगर हवेली, (4) लक्षद्वीप, (52) अंडमान-निकोबारद्वीप, (129)

हालांकि कोरोना वैकसीन की मदद से भारत ने कोरोना महामारी को रोकने का प्रयास किया है। अबतक में कुल 91 करोड़ लोगो का सफलतापूर्वक टीकाकरण किया गया है। केंद्र सरकार द्वारा प्राप्त आंंकड़ों के मुताबिक़, भारत की कुल आबादी का 65.9% लोग वैक्सीनेटेड हो चुके हैं। लेकिन कोरोना के मामले आज भी लगातार आ रहे हैं। जो चिंता का विषय है।

ख़बर लिखे जाने तक का ये आंकड़ा है। इसमें रोज़ बदवाल हो रहा है। संख्या में बदलाव संभव है।
 

Ground Report Hindi के साथ फेसबुकट्विटरकू ऐपवॉट्सएप और इंस्टाग्राम माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment