झारखंड : जादू-टोना के शक में ग्रामीणों ने महिला को कथित तौर पर पीट-पीटकर मार डाला!

Spread the love

झारखंड में लिंचिंग को लेकर बने कानून का डर लोगों में नज़र नहीं आता। यहां लिंचिंग की घटनाए रुकने का नाम नहीं ले रहीं। यहां गढ़वा जिले के खुरी गांव में ग्रामीणों ने जादू-टोना के शक के चलते एक 70 वर्षीय एक महिला को पीट-पीट कर कथित तौर पर मार डाला।

इस मामले में दर्ज शिकायत में महिला के परिवार ने आरोप लगाया है कि पांच लोग रविवार रात करीब साढ़े आठे बजे महिला को उसके घर से कम से कम 200 मीटर दूर घसीटकर लेकर गए और लाठियों से बुरी तरह पीटा जिससे उसकी मौत हो गई।

पुलिस ने जानकारी देते हुए बताया कि घटना चिनियां पुलिस थाने के खुरी गांव में हुई। पुलिस ने इस मामले में पूछताछ के लिए एक अभी व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। पुलिस के एक अधिकारी ने बताया कि महिला के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

झारखंड में इस तरह से हत्या का ये कोई पहला मामला नहीं है। लिंचिंग के मामले यहां थम नहीं रहे। राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो ( NCRB) के अनुसार, ऐसे मामलों में 2001 और 2020 के बीच कुल 590 लोगों की मौत हुई, जिनमें ज्यादातर महिलाएं थीं।

वही झारखंड के गुमला ज़िले में भरनो थाना क्षेत्र में भी एक अधेड़ की पीट पीटकर हत्या का मामला सामने आया था। 45 वर्षीय शमीम अंसारी ने पेड़ काटने का विरोध किया तो लोगों ने उन्हें लाठी-डांडों से पीट-पीटकर मार डाला था। अंसारी लकड़ी माफियाओं को रोकने का काम करते थे।

हाल ही में झारखंड के दुमका  जिले के जरमुंडी प्रखंड स्थित आमगाछी गांव से जादू टोने के फेर में बच्ची की हत्या के आशंका जताई गई थी। मामले में हत्या का अंदेशा जताते हुए बच्ची की मां ने लिखित शिकायत जरमुंडी थाने में दी थी। जरमुंडी के थाना प्रभारी दयानंद साह ने कहा था कि, मामला जादू टोना से जुड़ा हुआ लग रहा है। पुलिस ने एक डेढ़ वर्षीय बच्ची का शव बरामद किया था।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment