मध्य प्रदेश के स्कूलों में इन चीजों की फीस पांच गुना तक बढ़ाई गई, नया आदेश जारी

Spread the love

Madhya Pradesh School Fees Hike: मध्य प्रदेश में नए स्कूल सत्र से पहले स्कूलों की फीस बढ़ा दी गई है. शिवराज सरकार के एक नए फैसले के बाद अब मध्य प्रदेश के तमाम स्कूली विद्यार्थियों को इस साल दाखिले के साथ क्रीड़ा शुल्क दोगुना और स्काउट-गाइड शुल्क पांच गुना अधिक (Madhya Pradesh School Fees Hike) चुकाना होगा. बता दें कि मध्य प्रदेश शासन ने करीब 12 साल बाद इस शुल्क में बढ़ोतरी की है.

शिवराज सरकार द्वारा समस्त संभागीय संयुक्त संचालकों, जिला शिक्षा अधिकारियों और प्राचार्यों को जारी आदेश में कहा गया है कि, कक्षा नौवीं और 10वीं के विद्यार्थियों से क्रीड़ा शुल्क अब 60 रुपये के बजाय 120 रुपये और कक्षा 11वीं, 12वीं के विद्यार्थियों से 100 रुपये के बजाय 200 रुपये वसूले जाएंगे. स्काउट-गाइड शुल्क नौवीं,10 वीं के विद्यार्थियों से 10 रुपये की जगह अब 30 रुपये और 11वीं 12वीं के विद्यार्थियों से 50 रुपये वसू किए जाएंगे.

तालिबान का ये फरमान सुन छलक पड़े न्यूज़ एंकरों के आंसू, 84 फीसदी महिला पत्रकारों की छूटी नौकरी

बता दें कि स्कूल शिक्षा विभाग ने शुल्क बढ़ाने का प्रस्ताव साल 2020 में ही पास कर लिया था लेकिन कोरोना महामारी के चलते वित्त विभाग की ओर से इसे स्वीकृति अब वर्ष 2022 में मिली है. आंकड़ों के मुताबिक, उज्जैन जिले में 521 हाई स्कूल और हायर सेकंडरी स्कूल हैं.

प्रशासन ने एक आदेश में तीन सप्ताह पहले स्कूल प्राचार्यों को क्रीड़ा शुल्क, रेडक्रास और स्काउट का अंशदान कार्यालय में जमा करने का आदेश दिया था. इसमें प्रायार्यों को कहा गया था कि शुल्क जमा करें वरना माध्यमिक शिक्षा मंडल की ओर से जारी होने वाली कक्षा 10वीं, 12वीं के विद्यार्थियों की अंकसूची नहीं मिलेगी.

विभाग ने कहा है कि, स्कूलों पर बकाया राशि लाखों में हैं. जिसका हिसाब लगाकर वसूली की जाएगी. बता दें कि क्रीड़ा शुल्क का उपयोग स्कूल और विभाग स्थानीय खेल गतिविधि कराने पर किया जाता है और स्काउट-गाइड के मूल मंत्र ही सेवा भाव है, स्काउट -गाइड में बच्चों और युवाओं का सर्वांगीण विकास होता है.

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment