महाराष्ट्र : गिर जाएगी उद्धव सरकार ! मंत्री शिंदे दो दर्जन से अधिक विधायकों के साथ लापता

Spread the love

Maharashtra Political Crisis  : महाराष्ट्र की सियासत एक बार फिर गर्मा गई है। उद्धव सरकार (Uddhav Thackeray) पर ख़तरे के बादल मंडराते नज़र आ रहे हैं। उद्धव सरकार में बड़ी बगावत की ख़बर है। महाराष्ट्र में  MLC चुनाव में क्रॉस वोटिंग के बाद शिवसेना के 29 विधायक लापता हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक शिवसेना के दिग्गज नेता एकनाथ शिंदे ( cabinet minister Eknath Shinde) विधायकों को लेकर निकल गए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, शिवसेना के मंत्री शिंदे गुजरात के सूरत शहर में किसी होटल में विधायकों के साथ मौजूद हैं। उद्धव सरकार का उनसे कोई संपर्क नहीं हो पा रहा।

महाराष्ट्र में इस सियासी उठा-पठक के बीच सीएम उद्धव ठाकरे ने इन हालतों को देखते हुए आपात बैठक बुला ली है। बीजेपी नेता किरीट सौमैया ने बड़ा दावा करते हुए कहा, उद्धव ठाकरे की उल्टी गिनती शुरू हो गई है। जल्द ही महाराष्ट्र में भाजपा की सरकार बनती नज़र आएगी।

शिवसेना नेता संजय राउत ने कहा कि उद्वव ठाकरे सरकार पर कोई संकट नहीं है, सरकार के लिए कोई तूफान और भूकंप नहीं आएगा। उन्होंने ये भी कहा कि बीजेपी पहले भी हाथ आजमा चुकी है, लेकिन इस बार भी कामयाब नहीं होगी।

शिवसेना मंत्री एकनाथ शिंदे विधायकों लेकर पहुंचे गुजरात!

जानकारी के मुताबिक, शिवसेना के मंत्री एकनाथ शिंदे MLC चुनाव के बाद से नाराज़ थे। वो अपने साथ पालघर के विधायक श्रीनिवास वनगा, अलिबाग के विधायक महेंद्र दलवी, भिवंडी ग्रामिण के विधायक शांताराम मोरे को भी ले गए।

मिल रही जानकारी के मुताबिक दो दर्जन से अधिक विधायक उनके साथ गुजरात के एक होटल में मौजूद हैं। महाराष्ट्र में राज्य सभा चुनाव के बाद विधान परिषद चुनाव में भी BJP ने बड़ा उलटफेर करते हुए 10 में पांच सीट पर जीत हासिल की। शिवसेना और कांग्रेस में जमकर क्रॉस वोटिंग हुई, जिससे बीजेपी का पलड़ा भारी पड़ गया।

सूत्रों के मुताबिक, कांग्रेस के 44 विधायक थे लेकिन इनमें से सिर्फ 41 ने ही कांग्रेस को पहली प्राथमिकता दी। तीन विधायकों के क्रास वोटिंग करने की खबर सामने आई। शिवसेना ने आरोप लगाया कि भाजपा ने अधिकारों का दुरुपयोग करके जीत हासिल की। कांग्रेस का कहना है कि अगर उसके विधायकों ने हांदोरे के लिए वोट नहीं किया तो इसके लिए किसी को दोष नहीं दे सकते।

सरकार गिराने का पूरा का गणित समझें तो बीजेपी के पास अभी सबसे ज्यादा 106 विधायक हैं। लेकिन शिवसेना (55) ने एनसीपी (52) और कांग्रेस (44) के समर्थन से महाराष्ट्र में सरकार बनाई गई है। महाराष्ट्र में विधानसभा की 288 सीटें हैं।

शिवसेना के एक विधायक का निधन हो चुका है। सरकार बनाने के लिए 145 का आंकड़ा ज़ूरूरी है। अगर शिवसेना के 20 विधायक टूटकर भाजपा में चले जाते हैं और कुछ निर्दलीय भी साथ आ गए तो महाराष्ट्र में उद्धव सरकार का जाना तय हो जाएगा।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment