गुजरात : बारिश में बह गया मोदी का ‘गुजरात मॉडल’; 6 ज़िलों में भीषण तबाही !

Spread the love

गुजरात : देश में इस वक्त मानसून चल रहा है। देश के कई राज्य इस वक्त बाढ़ की चपेट में हैं। वही गुजरात में बारिश ने बाढ़ जैसे हालात बना दिए हैं। गुजरात के दक्षिण और मध्य के 6 ज़िले छोटा उदयपुर, डांग, नर्मदा, वलसाड, नवसारी और पंचमहाल में भीषण बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। जगह-जगह सड़कों और घरों में पानी भर गया है। अहमदाबाद के कई इलाकों में रविवार को 3 से 12 इंच बारिश रिकॉर्ड की गई।

वलसाड के कुछ निचले इलाकों में भारी बारिश के कारण बाढ़ आ गई। औरंगा नदी का जलस्तर बढ़ने के बाद वलसाड पानी में डूब गया है। कावेरी और अंबिका नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। नवसारी जिले के बाढ़ का खतरा बना हुआ है। सभी अधिकारी भी अलर्ट पर हैं। यहां निचले इलाकों में रेस्क्यू ऑपरेशन तेजी से चलाया जा रहा है।  एनडीआरएफ और एसडीआरएफ ने रेस्क्यू के लिए मोर्चा संभाल रखा है। 10 जुलाई को गुजरात में भारी बारिश के कारण 388 सड़कें बंद रहीं।

गुजरात में अगले पांच दिनों तक मौसम विभाग ने भारी बारिश की भी संभावना जताई है। फिलहाल NDRF की 13 और SDRF की 16 प्लाटून की टीमें तैनात की गई हैं। छोटा उदेपुर से 400, नवसारी में 550 और वलसाड में 470 लोगों और राज्य में 3250 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया गया है। वडोदरा से SDRF की 1 प्लाटून मदद के लिए छोटा उदयपुर भेजी गई है।

अहमदाबाद शहर में रविवार को दो घंटे मूसलाधार बारिश के बाद नहीं में बदल गया। बारिश में शहर का बड़ा इलाका पानी में डूब गया। अहमदाबाद नगर निगम ने भारी बारिश को देखते हुए सोमवार को अहमदाबाद में स्कूल-कॉलेज बंद रखने का फैसला किया। गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने भी स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशंस सेंटर के जिला कलेक्टरों के साथ बैठक कर गुजरात में भारी बारिश के कारण पैदा हुए हालात से निपटने के लिए उठाए गए कदमों की समीक्षा की है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment