कश्मीरी फोटो जर्नलिस्ट सना इरशाद को पेरिस जाने से क्यों रोका गया ?

Spread the love

पुलित्ज़र पुरस्कार विजेता सना इरशाद मट्टू एक कार्यक्रम में पेरिस जा रही थीं लेकिन दिल्ली में उन्हें रोक दिया गया। सना का दावा है कि उनके पास फ्रांसीसी वीज़ा मौजूद था लेकिन इसके बावजूद अधिकारियों ने उन्हें पेरिस नहीं जाने दिया। सना इरशाद फोटो जर्नलिस्ट हैं और कोरोना महामारी की दूसरी लहर के दौरान किए गए उनके कवरेज के आधार पर उन्हें पुलित्जर पुरस्कार से नवाज़ा गया था।

दिल्ली में रोके जाने पर सना ने ट्वीट किया है, मैं दिल्ली से पेरिस एक बुक लॉन्च और फोटो एग्ज़ीबिशन मे जा रही थी। सेरेन्डिपिटी आर्ल्स ग्रांट 2020 के दस पुरस्कार विजेताओं में से एक होने का कारण मुझे वहां जाना था। लेकिन फ्रांसीसी वीज़ा मिलने के बावजूद मुझे दिल्ली एयरपोर्ट पर इमिग्रेशन डेस्क पर रोक दिया गया। मुझे इसके लिए कोई कारण नहीं बताया गया, बस इतना कहा कि आप अंतर्राष्ट्रीय यात्रा नहीं कर सकती हैं।

कौन हैं फोटो जर्नलिस्ट सना इरशाद

श्रीनगर की रहने वाली सना कश्मीर के सेंट्रल यूनिवर्सिटी से कन्वर्जेंट जर्नलिज्म में पोस्ट ग्रेजुएट हैं। मट्टू ने पिछले छह वर्षों में कश्मीर को व्यापक रूप से कवर किया है, और उसकी तस्वीरें कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय मीडिया जैसे अल जज़ीरा, टाइम और कारवां में प्रकाशित हुई हैं। उन्होंने 2021 में प्रतिष्ठित मैग्नम फाउंडेशन के साथ फेलोशिप भी की है।

मई 2022 में सना ने रॉयटर्स द्वारा प्रकाशित अपने काम के लिए फ़ीचर फ़ोटोग्राफ़ी श्रेणी में पुलित्ज़र पुरस्कार जीता। उन्होंने भारत में COVID-19 संकट के कवरेज के लिए दिवंगत दानिश सिद्दीकी, अमित दवे और अदनान आबिदी सहित रॉयटर्स टीम के साथ पुरस्कार साझा किया। कश्मीर में सैनिकों और आंतकियों के बीच की तनाव भरी ज़िंदगी को सना अपने फोटो के ज़रिए दिखाती रही हैं और सोशल मीडिया पर मुखरता से अपना पक्ष भी रखती है।

उन्होंने 10 जून 2021 को कश्मीर के अनंतनाग जिले में मौजूद लिद्दरवाट में टीकाकरण अभियान की फोटो ली थी। जिस फोटो में हेल्थ केयर वर्क एक कश्मीरी चरवाहे को कोरोना वैक्सीन की डोज़ दे रहे हैं। सना ने यह फोटो समाचार एजेंसी रॉयटर्स के लिए खींची थी जिस पर ही उन्हें पुलित्ज़र अवॉर्ड मिला था।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment