एन-95 मास्क के चलते 100 सिख गार्ड्स को नौकरी से निकाला,पढ़ें पूरा मामला

Spread the love

एन-95 मास्क लगाने के लिए क्लीन शेव चेहरे की शर्त पूरी न करने पर कनाडा के टोरंटो में 100 से अधिक सिख सिक्योरिटी गार्ड्स को नौकरी से निकाल दिया गया। अब कैनाडा से लेकर पंजाब तक में इसका विरोध शुरू हो गया है। सिख संगठन इस फैसले नाराज़ हैं। फैसले को भेदभावपूर्ण बताया।

क्या है पूरा मामला ?

कनाडा के टोरंटो सिटी काउंसिल के नियमों के अनुसार फिटनेस टेस्ट के दौरान दाढ़ी रखने की इजाज़त नहीं है। इसके साथ ही सभी सार्वजनिक स्थलों पर नियुक्त किए जाने वाले सिक्योरिटी गार्ड्स के लिए एन95 मास्क फेस पर फिटिंग के साथ पहनना ज़रूरी है। इस नियम पर फिट नहीं उतरने के कारण 100 से अधिक सिख सिक्योरिटी गार्ड्स को नौकरी से हटाकर क्लीनशेव सिक्योरिटी गार्ड्स को रखा जा रहा है।

वर्ल्ड सिख आर्गेनाइजेशन ऑफ कनाडा के प्रेसिडेंट तेजिंदर सिंह सिद्धू ने इस फैसले को ग़लत बताया। उन्होंने कहा केश और दाढ़ी-मूंछ सिखों की पहचान है और सिख इसको हटा नहीं सकते हैं। तेजिंदर सिंह सिद्धू ने विरोध जताते हुए सभी सिख सिक्योरिटी गार्ड्स को तुरंत बहाल करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि ये नियम उस समय लागू किया जा रहा है जब शहर में कोई भी बिना मास्क के घूम सकता है। अभी तक वे इस के साथ ही अच्छे से ड्यूटी कर रहे थे, अब आखिर ये फैसला क्यों लागू किया जा रहा है।

बता दें कि पंजाब के कैबनिट मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने भी ट्वीट कर इस नियम को रद्द करने की अपील की है। शहर के मेयर का भी कहना है कि सिख सुरक्षा गार्डों के लिए कोई हल ढूंढा जाए। जो सिख गार्ड हटाए गए हैं, उन्हें तुरंत बहाल किया जाना चाहिए। पंजाब के कैबनिट मंत्री हरजोत सिंह बैंस ने लिखा है कि दाढ़ी और मूंछ सिख की शान और पहचान हैं। सिटी प्रशासन को इस नियम को तुरंत इसे रद करना चाहिए।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment