महराजगंज : मां का मंगलसूत्र बेचकर टेम्पो का चालान भरने को पहुंचा ड्राइवर, फ़िर रोते हुए…

Spread the love

उत्तर प्रदेश के महराजगंज ज़िले से एक भावुक कर देने वाला मामला सामने आया है। यहां एक टैम्पो ड्राइवर का ट्रैफिक नियमों (Traffic Rules) का पालन न करने के चलते उसका चालान काट दिया गया। चालान के पैसे चुकाने भरने के लिय उस ड्राइवर के पास नहीं थे।

तब उसने अपनी मां का मंगलसूत्र बेचकर चालान की रक़म चुकाने एआरटीओ पहुंच। टेम्पो ड्राइवर की दर्द भरी दास्तां सुनकर अधिकारी भावुक हो गए और खुद अपने पास से उसका चालान भर दिया।

क्या है पूरा मामला

उत्तर प्रदेश के महाराजगंज ज़िले के एआरटीओ दफ्तर में बुधवार सिंहपुर ताल्ही गांव का एक टेम्पो ड्राइवर विजय कुमार चालान भरने पहुंचा। एआरटीओ भारतीय ने उससे पूछा कि उसे क्या समस्या है। इस पर विजय कुमार ने अपनी पूरी दास्तां सुना दिया।

ड्राइवर विजय कुमार ने बताया कि 8 जून को उसकी टैप्पो का 24,500 रुपये का चालान काट दिया गया।  विजय ने बताया चालान की रकम भरने के पैसे नहीं थे। मजबूरी में अपनी मां का मंगलसूत्र बेचकर 13,000 रुपये जुटाए हैं और इस बाक़ी पैसे माफ कराने की उम्मीद से यहां आया हूं।

विजय ने बताया कि उसके पिता की एक आंख ही ठीक है। बड़ी मुश्किल से कमा कर घर चला रहा है। विजय की कहानी सुनने के बाद एआरटीओ ने उसे पानी पिलाया और उसके चालान के पूरे पैसे खुद दी। एआरटीओ ने विजय को कुछ नकद पैसे भी दिए।

एआरटीओ की इस दरियादिली को कार्यालय में मौजूद सभी कर्मियों ने सराहना की। विजय का चालान भरने के बाद एआरटीओ ने विजय के टेम्पो का इंश्योरेंस भी करवा दिया। वहीं विजय ने कहा कि मेरी समस्या दूर हो गई। सोचा नहीं था कि दुनिया में ऐसे भले लोग भी होते हैं।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment