हसनपुर : वन विभाग की लापरवाही के चलते दलित महिला को जंगली कुत्तों ने उतारा मौत के घाट !

Spread the love

उत्तर प्रदेश के अमरोहा ज़िले की हसनपुर तहसील से एक हृदय विदारक घटना सामने आई है। यहां दीपपुर गांव में एक दलित महिला को जंगली कुत्तों ने हमला कर मौत के घाट उतार दिया। महिला का शव क्षत-विक्षत हालत में जंगल में मिला। महिला का नाम राजवती (40)  है। वह अपने पशुओं का चारा लेने सुबह जंगल गई थी। तब ही जंगली कुत्तों ने उसपर हमला कर दिया। कुत्ते महिला के शरीर के कुछ अंगों को खा गए। गांव वालो उसकी लाश मिली।

महिला हसनपरु तहसील के गांव दीपपुर की निवासी है। पति सतवीर सिंह से यूपी के सीएम योगी आदित्नाथ को पत्र लिखकर आर्थिक मदद की मांग की है। मृतक महिला के पति का कहना है कि उनका परिवार बेहद ही ग़रीब है। मज़दूरी करके बड़ी मुश्किल से परिवार ज़िंदगी गुज़ार रहा है। उनकी पत्नी की मौत के बाद परिवार पर दुख का पहाड़ टूट पड़ा है। इस मामले में वो सरकार से आर्थिक मदद की गुहार लगाते फिर रहे हैं।

वन विभाग की लापरवाही ने ली महिला की जान

गांव वालों का आरोप है कि वन विभाग और प्रशासन की लापरवाही के चलते महिला की जान गई है। कई बार वन विभाग के अधिकारियों को जंगली कुत्तों के बारे में सूचना दी गई। लेकिन लापरवाह अधिकारी सोते रहे। इससे पहले भी जंगली कुत्ते कई लोगों को हमला कर घायल कर चुके हैं। अगर प्रशासन और वन विभाग के अधिकारियों ने सुना होता तो राजवती की मौत नहीं होती। इससे पहले भी कुत्ते एक मासून को उठाकर ले गए थे। जिसके बाद मासूम बच्चे का शव जंगल से मिला था।

दलित महिला के परिवार की कोई सुनवाई नहीं

महिला के पति का आरोप है कि उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही। प्रशासन और वन विभाग के अधिकारी मामले को दबा कर खत्म करना चाहते हैं। पीड़ित परिवार इंसाफ के लिय दर-दर भटक रहा है। दीपपुर गांव दलित बहुल्य गांव है। दलित होने के चलते कोई सुनवाई नहीं हो रही। राज्य की योगी सरकार सबका साथ-सबका विकास की बात करती है। महिलाओं के सम्मान और क़ानून व्यवस्था की बात करती। लेकिन यहां सरकारी अधिकारी एक दलित महिला की मौत पर इंसाफ नहीं दिला रहे। 

इस मामले में हसनपुर के सपा के नेता मंयक प्रताप ने वन विभाग पर लापरवाही का बड़ा आरोप लगाया है। उन्होंने बताया-जंगली कुत्तों के हमले रोज़ाना हो रहे हैं। जब किसी की मौत हो जाती है। तब मामला चर्चा में आता है। वन-विभाग को लगातार शिकायत की जाती रही। लेकिन अधिकारियों ने कोई ध्यान नहीं दिया। महिला की मौत के बाद गांव वाले जब विरोध करने सड़क पर उतरे। तो पुलिस ने उल्टा गांव वालों पर ही केस करने की धमकी दे डाली।

उन्होंने बताया कि इस संबंध में वो DM के पास शिकायत करेंगे। इसके साथ ही मृतक महिला के परिवार को मुआवज़ा दिलाने के लिय सरकार से मांग करेंगे। अगर अधिकारी लापरवाही करते रहे तो कल को कुत्ते किसी और की जान ले लेंगे।

DM बोले जल्द कुत्तों को पकड़ लिया जाएगा

महिला की मौत के बाद ग्रामीणों ने जंगली कुत्तों को पकड़वाएं जाने की मांग को लेकर दीपपुर गेट के निकट हसनपुर-गजरौला मार्ग को जाम कर दिया। सूचना मिलते ही पुलिस क्षेत्राधिकारी सतीश चंद्र पांडे,एसडीएम सुधीर कुमार मौके पर पहुंच गए। कुछ देर वाद एसडीम के समझाने पर ग्रामीण माने और जाम खोल दिया। एसडीएम सुधीर कुमार ने बताया कि ग्रामीणों की मांग थी, कि जंगली कुत्तों को पकड़वाया जाए, वन विभाग की टीम को मौके पर भेजा गया है। जल्द ही कुत्तों को पकड़ लिया जाएगा।

विधायक महेंद्र सिंह खड़गवंशी भी सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे और पीड़ित परिवार से वार्ता कर उसे सांत्वना दी और कहा कि हर संभव मदद की जाएगी। इसी के साथ उन्होंने वन विभाग की टीम को सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि हसनपुर तहसील क्षेत्र में जंगली कुत्तों को तुरंत पकड़े, नहीं तो उनके खिलाफ वह शासन को लिखेंगे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment