Agneepath scheme : ‘अग्निपथ योजना’ क्या है और इसपर क्यों उठ रहे सवाल? जानें

Spread the love

What is Agneepath scheme : मोदी सरकार ने 14 जून मंगलवार 2022 को भारतीय सेना में एक नई योजना ‘अग्निपथ’ (Agneepath scheme) का एलान किया है। इस योजना के तहत भारतीय सेना (Indian Army) में कम अवधि के लिय भर्तियां की जाएंगी।

जानकारी के मुताबिक मोदी सरकार द्वारा लाई गई इस योजना का उद्देश्य देश में बेरोज़गारी कम करने के साथ ही रक्षा बजट पर वेतन और पेंशन के बोझ को कम करना भी है। लेकिन इस योजना की घोषणा होते ही सेना में प्रमुख पदों पर रह चुके कुछ लोगों ने इस योजना पर गहरी चिंता व्यकत की है।

सेना में प्रमुख पद पर रह चुके बिरेंदर धनोआ ने ट्वीट किया, “पेशेवर सेनाएं आमतौर पर रोज़गार योजनाएं नहीं चलाती….”

द टेलिग्राफ़ अख़बार ने सेना में कार्यरत रहे कुछ अधिकारियों के हवाले से लिखा है कि यह अग्निपथ योजना कई चिंताएं पैदा करने वाली हैं।

जब हज़ारों की संख्या में हथियार चलाने के लिए प्रशिक्षित किए गए युवा नौकरी की अवधि पूरी होने पर वापस लौटेंगे तब क़ानून-व्यवस्था से जुड़ी एक गंभीर समस्या सामने आ सकती है। खड़ी हो सकती है।

सरकार द्वारा लाई गई इस योजना के तहत एक बड़ी चिंता ये भी है कि भारतीय सेना में ‘नौसिखिए’ जवानों की संख्या बढ़ जाएगी, जो दुश्मन देशों की ओर से मिलने वाली चुनौतियों का सामना करने में गंभीर दिक्कत आ सकती है।

देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और तीनों सेना प्रमुखों ने इस अग्निपथ योजना का एलान किया। पीएम मोदी की अगुवाई वाली सुरक्षा पर बनी कैबिनेट कमिटी ने इस योजना को मंज़ूरी दी थी।


अख़बार ने आगे लिखा कि इस योजना का मक़सद सैन्य सेवा में लगातार बढ़ रहे वेतन और पेंशन के बोझ को घटाना है।

रिटायर्ड लेफ़्टिनेंट जनरल विनोद भाटिया ने इस योजना पर लिखा, “सशस्त्र बलों के लिए ख़तरे की घंटी बज गई है। समाज के सैन्यीकरण का खतरा। हर साल क़रीब 40 हज़ार युवा बेरोज़गार होंगे। ये अग्निवीर हथियार चलाने में पूरी तरह प्रशिक्षित नहीं होंगे। अच्छा विचार नहीं है।

What is Agneepath scheme : क्या है अग्निपथ योजना?

मोदी सरकार द्वारा लाई गई ‘अग्निपथ’ योजना के तहत सेना में युवाओं को चार साल तक काम करने का मौक़ा मिलेगा। इसें जॉइन करने वाले 25 फ़ीसदी युवाओं को बाद में रिटेन किया जाएगा। यानी 100 में से 25 लोगों को पूर्णकालिक सेवा का मौक़ा मिलेगा।

नेवी चीफ़ एडमिरल आर. हरि कुमार ने कहा कि इस योजना के तहत चार साल के लिए क़रीब 45000 युवाओं को भर्ती किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सेना के अग्निवीरों में महिलाएं भी शामिल होंगी।

वेतन 40 हज़ार रुपए के क़रीब होगा। अगले 90 दिनों यानी तीन माह के अंदर अग्निपथ योजना के तहत भर्तियां शुरू हो जाएंगी। नए अग्निवीरों की उम्र साढ़े 17 साल से 21 साल के बीच होगी।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment