कौन हैं आफरीन फातिमा, क्यों योगी सरकार ने उनका घर गिरा दिया ?

Spread the love

Who is Afreen Fatima : प्रयागराज में 10 जून की हिंसा (Prayagraj Violence) के बाद पुलिस ने इस घटना का मुख्य आरोपी जावेद मोहम्मद को बताया। दो दिन बाद। 12 जून को उनका घर योगी सरकार ने गिरवा दिया। इस घटना के बाद जो नाम सुर्खियों आया। वो नाम है आफ़रीन फात्मा का। जो मुख्य आरोपी जावेद मोहम्मद की बेटी है। सोशल मीडिया पर #StandWithAfreenFatima का ट्रेंड चलना शुरू हो गया।

Who is Afreen Fatima : कौन हैं आफरीन फातिमा ?

आफरीन फातिमा, जावेद मोहम्मद की बेटी है। आफरीन अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (AMU) महिला कॉलेज की पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष रह चुकी हैं। वर्तमान में वो JNU में पढ़ाई कर रही हैं। आफरीन का नाम 2019 में भी सुर्खियों में आ चुका है। आफरीन ने CAA – NRC के विरोध प्रदर्शन में बढ़-चढ़कर भाग लिया था। वह शाहीन बाग(Shaheen Bagh) में हुए आंदोलन के दौरान काफी ऐक्टिव रही थीं।

आफरीन (Afreen Fatima) ने हालही में हिजाब बैन मामले में हुए प्रदर्शन के दौरान दक्षिण भारत के शहरों में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया।  JNU पढ़ाई कर रही आफरीन एख ऐक्टिविस्ट हैं और देश में अल्पसंख्यकों के मुद्दों बढ़ चढ़कर हिस्सा लेती रही हैं। वो AMU में पढ़ाई के दौरान ही सक्रिय हो गई थीं। पुलिस ने प्रयागराज हिंसा में उनकी भी भूमिका पर सवाल खड़े किए हैं।

क्यों योगी सरकार ने उनका घर गिरा दिया ?

आफरीन फातिमा ने मीडिया को बताया कि 10 जून के दिन हुई हिंसा के बाद पुलिस ने उनके पिता जावेद मोहम्मद के खिलाफ धारा 107 में केस दर्ज कर लिया था। आफरीन ने कहा कि इस केस दर्ज करने का मतलब यह था कि शहर में अगर कहीं कुछ भी हुआ तो उसके पिता जिम्मेदार होंगे।

प्रयागराज हिंसा में मुख्य आरोपी बनाए गए जावेद मोहम्मद की दूसरी बेटी सुमैया फात्मा ने मीडिया से बात कर कहा- मेरे पापा को ग़लत फंसाया जा रहा है। आजतक उनका ऐसे किसी मामले में नाम तक नहीं आया है। वो हमेशा प्रशासन का सहयोग करते आए हैं। पुलिस प्रशासन ने बिना किसी सबूत के उन्हें हिंसा का मास्टरमाइंड बताकर (Afreen Fatima house demolition) हमारा घर तोड़ डाला।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment