कौन है वलीउल्लाह जिसे 2006 बम धमाकों का दोषी मानते हुए मिली फांसी की सज़ा

Spread the love

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में 2006 में हुए सीरियल बम धमाकों के मामले में गाज़ियाबाद की ज़िला एंव सत्र अदालत ने वलीउल्लाह को फंसी की सज़ा सुनाई है। 2006 में हुए इन बम धमाकों में 18 लोगों की जान गई थी, वहीं 35 लोग घायल हुए थे।

यूपी के वाराणसी शहर में स्थित संकट मोचन मंदिर, दशाश्वमेघ घाट और कैंट रेलवे स्टेशन पर सीरीयल ब्लास्ट किए गए थे। इन सभी स्थानों पर हुए धमाकों में 18 लोगों की मौत हुई थी। कम से कम 35 लोग घायल हुए थे। धमाकों के करीब 16 साल बाद यह फैसला आया है।

इस मामले में अदालत का फैसला आने के बाद DGC (जिला शासकीय अधिवक्ता) क्रिमिनल राजेश चंद्र शर्मा ने मीडिया से बात करते हुए बताया कि वाराणसी के  संकट मोचन मंदिर बम धमाके में 7 लोगों की जान गई थी और 26 लोग घायल हुए थे। इस मामले में कोर्ट में 47 गवाह पेश किए गए। अदालत ने वलीउल्लाह दोषी मानते हुए फांसी की सज़ा सुनाई।

उन्होंने आगे बताया कि 7 मार्च 2006 को सीरियल ब्लास्ट में 18 लोग मारे गए थे और करीब 76 लोग घायल हुए थे।  5 अप्रैल 2006 को पुलिस ने इस मामले में प्रयागराज जिले के फूलपुर गांव निवासी वलीउल्लाह को गिरफ्तार किया था।

इन बन धमाकों मे केवल वलीउल्लाह नहीं बल्कि उसके अन्य साथी भी शामिल थे। पुलिस की पूछताछ में इन धमाकों में मुस्तकीम, जकारिया और शमीम के नाम भी सामने आए थे। ये लोग कभी पकड़े ही नहीं जा सके। ऐसा माना जाता है कि सुरक्षा एजेंसियों का शिकंजा कसने के बाद ये आरोपी बांग्लादेश के रास्ते पाकिस्तान भाग गए थे।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Also Read

2 thoughts on “कौन है वलीउल्लाह जिसे 2006 बम धमाकों का दोषी मानते हुए मिली फांसी की सज़ा”

Leave a Comment