IAS अधिकारी रियाज़ अहमद गिरफ्तार कर क्यों भेजे गए जेल? जानिए पूरा मामला

Spread the love

IAS अधिकारी सैयद रियाज़ अहमद को यौन यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। रियाज़ खूंटी के एसडीएम के पद पर तैनात हैं। गिरफ्तारी के बाद रियाज अहमद को अदालत में पेश किया गया, जहां से न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। रियाज अहमद 2019 बैच के IAS अधिकारी हैं। उनके खिलाफ IIT मंडी की एक छात्रा ने यौन उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए FIR कराई थी।

खूंटी एसपी अमन कुमार के मुताबिक एसडीएम के आवास पर बीते एक जुलाई की रात में पार्टी हुई थी। पार्टी में IITमंडी (हिमाचल प्रदेश) के कई छात्र-छात्राएं शामिल हुए। दर्ज शिकायत में पीड़िता ने बताया कि सात अप्रैल को आईआईटी मंडी के आठ छात्र-छात्राओं को खूंटी जिला की ओर से इंटर्नशिप के लिए बुलाया गया था।

एक जुलाई को एसडीओ रियाज अहमद ने छात्रों को अपने आवास पर आमंत्रित किया। वे पार्टी में खुद भी शराब का सेवन करते रहे। इसके बाद उन्होंने शराब मंगवाई और पीने के लिए जोर देने लगे। इस दौरान वे लगातार मुझे गंदी नजरों से घूरते रहे। पार्टी खत्म होने के बाद सभी छात्र हेल्थ क्लब चले गए जहां उन्हें ठहराया गया था।

कौन हैं IAS अधिकारी रियाज़ अहमद ?

एसडीएम ने दो जुलाई की सुबह सभी को अपना आवास दिखाने बुलाया। इस दौरान अकेला पा एसडीएम अश्लील हरकत करने लगे। पीड़िता वहां से भाग निकली। चार जुलाई को पीड़िता ने खूंटी महिला थाने में एसडीएम के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई।

रियाज की गिरफ्तारी की सूचना खूंटी डीसी ने कार्मिक विभाग को भेज दी है। ऐसे में बुधवार को विभाग रियाज अहमद को निलंबित कर सकता है। 2019 बैच के IAS रियाज अहमद मूल रूप से महाराष्ट्र के नासिक के रहने वाले हैं। उनकी पत्नी भी प्रशासनिक अधिकारी हैं जो झारखंड के पड़ोसी राज्य में तैनात हैं।

पुलिस ने SDM रियाज अहमद के खिलाफ 354 ए (1) (2), 509 के तहत मामला दर्ज किया है। दोनों धाराओं में तीन साल की जेल, जुर्माना या दोनों की सजा का प्रवाधान है। फिलहाल मामले की जांच जारी है। उनके निलंबन की तैयारी भी जारी है।

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment