‘Kaali’ फिल्म के पोस्टर पर मचा हंगामा; डायरेक्टर मीना ने मोदी सरकार को क्यों बताया फ़ासीवादी ? जानें

Spread the love

Kaali film : देश में पिछले कुछ समय से फिल्म के बॉयकॉट का चलन आम हो गया है। शायद ही अब कोई ऐसी फिल्म हो जो बिना विरोध के देखी जा रही हो। अब एक डॉक्यूमेंट्री फिल्म ‘काली’ के पोस्टर को लेकर विवाद शुरू हो गया है। फिल्म के पोस्टर देवी का कॉस्ट्यूम पहने महिला को सिगरेट पीते दिखाए दर्शाया गया है। इसको लेकर दिल्ली के एक वकील ने पोस्टर को आपत्तिजनक बताते हुए निर्देशक लीना मणिमेकलाई के खिलाफ पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है।

हाल ही में ट्विटर पर डॉक्युमेंट्री ‘काली’ का पोस्टर जारी किया था जिसमें एक महिला को देवी के रूप में दिखाया गया है जिसके हाथ में एलजीबीटी समुदाय का झंडा दिख रहा है और वो सिगरेट पीती हुई भी नज़र आ रही है। इस पोस्टर के आने के बाद फिल्म निर्देशिका लीना मणिमेकलाई को सोशल मीडिया पर निशाना बनाया जा रहा है। उन पर हिंदू भावनाओं को आहत करने का आरोप लग रहा है। सोशम माडिया पर लोग फिल्म बैन करने की मांग कर रहे हैं साथ ही उनपर कार्रवाई करने को लेकर अभियान चला रहे हैं। दिल्ली के एक वकील ने पुलिस में शिकायत दर्ज करा दी है।

Kaali film : काली फिल्म की निर्देशक लीना ने मोदी सरकार को बताया

फिल्म को लेकर हो रहे विवाद के बीच लीना मणिमेकलाई ने कहा कि उनके पास खोने को कुछ भी नहीं है और अगर इसकी कीमत उनकी जिंदगी है तो वो उसे भी देने को तैयार हैं। लीना मणिमेकलाई ने एक ट्वीट कर कहा, ‘ये फिल्म एक घटना के इर्द-गिर्द घूमती है जो कि एक शाम घटित होती है। और ये घटना तब होती है जब काली टोरंटो में घूम रही होती है।’

लीना मणिमेकलाई ने कहा, ‘अगर आप फोटो को देखें तो ‘अरेस्ट लीना मणिमेकलाई’ हैशटैग को आगे न बढ़ाएं बल्कि ‘लव यू लीना मणिमेकलाई’ को आगे बढ़ाएं।’

बीबीसी तमिल को दिए एक इंटरव्यू में मणिमेकलाई ने काली (Kaali film) को लेकर हो रहे विवाद को कहा, ‘मौजूदा सरकार लोकतांत्रिक नहीं फासीवादी है जो सामाजिक कार्यकर्ताओं, पत्रकारों, कलाकारों को दबाती है। भ सरकार एक धार्मिक कट्टरपंथी निरंकुश सरकार है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘भारत में मोदी और शाह ही कानून हैं। ये पूरी दुनिया जानती है। क्या हर कोई सांस लेना और बोलना बंद कर सकता है? वे नफरत बो सकते हैं लेकिन कलाकार उस फसल को नहीं काटते।’

Ground Report के साथ फेसबुकट्विटर और वॉट्सएप के माध्यम से जुड़ सकते हैं और अपनी राय हमें Greport2018@Gmail.Com पर मेल कर सकते हैं।

Leave a Comment